veekeleaks

जनरल साहेब ! इतने दिन से कुर्सी पर बैठ कर क्या कर रहे थे? हमारे यहाँ मीडियापर बोलने 
का चलन बढ़ रहा है . व्यवस्था में बदलाव की आवश्यकता है. देश की सुरक्षा के  फैसलों पर 
क्रियान्वयन देर से हो रहा है ,यह चिंता  का विषय है.कई बार इसमें २० से ३० सालों का अंतराल 
हो जाता है. इसके लिएजसवंत सिंह ,फर्नांडीस ,मुलायम सिंह अंटोनी ,ब्रिजेश मिश्र  UPA और 
NDA सभी दोषी हैं . और सबसे अधिक दोषी हैं सेना और रक्षा से जुड़े अधिकारी गण.लेकिन 
अब आरोप-प्रत्यारोप की बजाय गलतियाँ  दूर कर आगे बढ़ा जाये यही देश और समय दोनों 
की मांग है. 

Comments

Popular posts from this blog

रेप और बलात्कार

शरद पवार को जबाब देना होगा

सेना को हर बार बधाई