तुमको आते है प्यार के माने।

तुमको आते है प्यार के माने।
कुछ हमे भी सिखाओ तो जाने।।
ऐसे जलवे अगर दिखाओगे
मर मिटेंगे शहर के दीवाने।।
तुम सरे-वज़्म क्या नजर आये
बंद हो गए तमाम मैखाने।।
तुम अगर संग हो तो जीवन है
तुम नहीं हो राम ही जाने।।
हर कोई अपने आप में गुम है
भीड़ में कौन किसको पहचाने।।
तेरे जैसा नहीं मिला कोई
खोज डाले सभी सनमखाने।।
हमको मशहूर कर दिया तुमने
वरना हम थे शहर में बेगाने।।

Comments

Popular posts from this blog

रेप और बलात्कार

भोजपुरी लोकगीत --गायक-मुहम्मद खलील